Thursday, April 25, 2024
Google search engine
HomeNews247मराठा आंदोलन की होगी SIT जांच, मनोज जरांगे बोले

मराठा आंदोलन की होगी SIT जांच, मनोज जरांगे बोले

मुंबई: मराठा आंदोलनकारी कार्यकर्ता मनोज जरांगे द्वारा उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस पर लगाए गए आरोपों का असर दूसरे दिन भी विधानमंडल के बजट सत्र में देखने को मिला। विधान परिषद और विधानसभा में जरांगे का मुद्दा उठाया गया। इसके बाद विधानसभा अध्यक्ष राहुल नार्वेकर ने जरांगे पाटील के समूचे आंदोलन की एसआईटी से जांच कराने का निर्देश सरकार को दिया। वहीं, विधान परिषद में बीजेपी नेता प्रवीण दरेकर ने आरोप लगाया कि शरद पवार, जालना विधायक राजेश टोपे और रोहित पवार सहित एनसीपी शरद पवार गुट के नेताओं ने जरांगे के साथ बैठक की और सुनिश्चित किया कि कार्यकर्ता राज्य में अशांति पैदा करें।

मंगलवार को बीजेपी विधायक आशीष शेलार ने इस मुद्दे को विधानसभा में उठाया। उन्होंने कहा कि मनोज जरांगे पाटील ने उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस पर जो आरोप लगाए हैं, वे काफी गंभीर हैं। जरांगे महाराष्ट्र को जलाने की बात कह रहे हैं।

क्या बोले-आशीष शेलार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभाएं न होने की धमकी दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि किसकी फैक्ट्री में बैठकें हुईं, जेसीबी किसकी फैक्ट्री से आई? उस फैक्ट्री में पत्थर कहां से आए? इन बातों की एसआईटी जांच होनी चाहिए। इसके बाद विधानसभा अध्यक्ष राहुल नार्वेकर ने मनोज जारंगे पाटील के आंदोलन की जांच एसआईटी से कराने के आदेश दिए। एसआईटी जांच के निर्देश दिए जाने के बाद उप मुख्यमंत्री फडणवीस ने कहा कि एसआईटी जांच करेगी कि जरांगे किसकी ‘स्क्रिप्ट’ बोल रहे हैं। जरांगे ने मेरे खिलाफ बेबुनियाद आरोप लगाए हैं, लेकिन पूरा मराठा समाज मेरा समर्थन करता है।

विधानसभा में मराठा आरक्षण आंदोलन की एसआईटी जांच कराए जाने की घोषणा के बाद मराठा आरक्षण आंदोलन के नेता मनोज जरांगे पाटील ने एसआईटी जांच की घोषणा का स्वागत तो किया, साथ ही चुनौती दी कि एसआईटी जांच में मंत्रियों की भी जांच की जाए।

‘मुझे किसी बात का डर नहीं’

जरांगे पाटील ने अपने गांव में कहा कि मुझे किसी जांच का या किसी भी बात का कोई डर नहीं है। मैं चाहता हूं कि जांच हो तो पूरी हो, अधूरी जांच नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि उन्हें इस बात का पहले से अंदेशा था कि सरकार उन्हें फंसाने के लिए जरूर कोई दांव खेलेगी। मैंने परसों ही इस बारे में अपने समाज के लोगों को संकेत दिया था।

फडणवीस सत्ता का इस्तेमाल कर रहे हैं

मनोज जरांगे पाटील ने कहा कि देवेंद्र फडणवीस सत्ता का इस्तेमाल कर रहे हैं, लेकिन मेरा कोई दोष नहीं है। मैं कहीं भी जाने को तैयार हूं। मेरी कहीं भी कोई भी जांच कर लो। मुझे किसी राजनीतिक पार्टी का समर्थन नहीं है। न मुझे किसी ने पैसा दिया है। मुझे सबसे ज्यादा अगर किसी के फोन आए हैं, तो सरकार के लोगों के आए हैं। वो लोग मेरी जांच करें, मैं भी उनके सारे प्रकरण बाहर निकालूंगा। अब सभी की जांच करनी पड़ेगी। इसके बिना सरकार की मुक्ति नहीं है। सरकार के 600 अधिकारी मंत्रियों की भी जांच करनी पड़ेगी।
देवेंद्र फडणवीस मेरे खिलाफ षडयंत्र रच रहे हैं। इसीलिए मैं उनके सागर बंगले पर जाना चाहता था। अब सारा मराठा समाज फडणवीस के खिलाफ है। मैं गिरफ्तारी के लिए तैयार हूं। मैं फांसी से भी नहीं डरता। अगर मेरी जाति और मैरे समाज के लिए मेरी जान जाती है, तो जाए। फडणवीस की वजह से मुझे यह पवित्र मौत मिलेगी।

शशि मिश्रा के बारे में

शशि मिश्रा

शशि मिश्रा

“शशि पांडेय ने 2007 में पत्रकारिता की शुरुआत अमर उजाला से की। फिर दैनिक जागरण कानपुर से घिसाई। सहारा में पॉलिशिंग और नवभारत टाइम्स में मिली ऐसी चमक जो अभी तक बरकरार है। शौक़: लिखना, घूमना और नये लोगों से नई- नई जानकारियां लेना. फ़ंडा: जीवन में हर किसी के पास दो रास्ते होते हैं, भाग लो (Run) या भाग लो (Part). मेरी लाइफ का फ़ंडा, भागने की जगह भाग लेना है.”… Read More

Read More

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments